Tata Harrier
Tata Harrier

नई दिल्ली: कार कंपनियों के लिए इंजन तैयार करना एक बड़ा खर्चीला काम होता है। एक इंजन की तैयारी में अरबों रुपये का खर्च और वर्षों की शोध-विकास लगती है। यह इंजन की टेस्टिंग और मानवसंचालन के साथ कई सालों की मेहनत के बाद कार में लगाने का प्रक्रिया शामिल करता है।

हालांकि, आजकल कार कंपनियाँ खर्च और समय की बचत के लिए पहले से मार्केट में चल रहे लोकप्रिय इंजनों का उपयोग कर रही हैं। ऐसा करने के लिए कंपनियों के बीच इंजन टेक्नोलॉजी की साझेदारी की जाती है। इस तरीके से कंपनियाँ न केवल समय बचाती हैं, बल्कि उन्हें नए इंजन के खर्च से भी बचाने में मदद मिलती है।

भारत में कई कंपनियाँ हैं जो अपनी कारों में दूसरी कंपनियों के इंजनों का उपयोग कर रही हैं, जैसे कि टोयोटा, टाटा मोटर्स, निसान, स्कोडा आदि। एक लोकप्रिय कार निर्माता कांपनी के बारे में बात करते हैं जिसने अपनी कार में टाटा हैरियर के इंजन का इस्तेमाल करके उसकी कीमत 7 लाख रुपये बढ़ा दी है।**

 Tata Harrier
Tata Harrier

नई दिल्ली: टाटा हैरियर, एक लोकप्रिय भारतीय कार निर्माता की एक प्रसिद्ध SUV है, जिसमें केवल डीजल इंजन का उपयोग होता है। इसमें 2.0 लीटर टर्बो डीजल इंजन लगता है, जिसका उपयोग जीप कम्पास के भी इंजन के रूप में किया जाता है। यह डीजल इंजन समृद्धि के साथ काम करता है और कार को मजबूत शक्ति और प्रदर्शन प्रदान करता है।

यह बताने में महत्वपूर्ण है कि टाटा मोटर्स ने इस इंजन को जीप से खरीदा है, जिससे वे अपनी विभिन्न कारों में इसका उपयोग कर सकें। ऐसे मामूलतः टाटा हैरियर के इंजन को भी विभिन्न कंपनियों द्वारा इस्तेमाल किया जाता है। यह अभियांत्रिकी की एक प्रकार की साझेदारी के रूप में देखी जा सकती है, जो कंपनियों को समय और पैसे बचाने में मदद करती है।

कीमत के पहलू पर बात करते हुए, भारत में टाटा हैरियर की कीमत 15.20 लाख रुपये से शुरू होती है। वहीं, जीप कम्पास की कीमत 21.73 लाख रुपये से आरंभ होती है। इसका मतलब है कि टाटा हैरियर जीप कम्पास के मुकाबले लगभग 7 लाख रुपये सस्ती है। यहाँ यह ध्यान देने योग्य है कि दोनों कारों में समान इंजन होने के बावजूद उनके प्रदर्शन में कुछ ही अंतर होता है। टाटा हैरियर का इंजन 170 बीएचपी की पावर प्रदान करता है, जबकि जीप कम्पास का इंजन 172 बीएचपी की पावर प्रदान करता है। इसके बावजूद, दोनों कारों की कीमत में यह अंतर है, क्योंकि जीप कम्पास को प्रीमियम एसयूवी के रूप में बेचा जाता है और इसके पार्ट्स अक्सर बाहर से आते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *