PM Kisan Yojana:
PM Kisan Yojana:

पीएम किसान योजना: केंद्र सरकार द्वारा लागू की गई योजनाओं में से एक है पीएम किसान योजना। इस योजना के तहत किसानों को सालाना 6,000 रुपये का वित्तीय लाभ मिलता है. यह राशि किसानों को किस्तों में वितरित की जाती है। प्रत्येक किस्त में किसानों को 2,000 रुपये की धनराशि प्रदान की जाती है। इसका मतलब है कि एक ही वर्ष के भीतर तीन किस्तें वितरित की जाएंगी।

अब तक इस योजना के तहत किसानों को 14वीं किस्त मिल चुकी है. सरकार ने इस कार्यक्रम के लिए कई नियम भी स्थापित किये हैं. यदि कोई किसान इन नियमों का पालन करने में विफल रहता है, तो उन्हें कड़ी कार्रवाई का सामना करना पड़ सकता है। इससे कई किसान 14वीं किस्त से वंचित रह गये हैं. इस योजना का लाभ केवल 2 हेक्टेयर तक की भूमि पर खेती करने वाले किसान ही उठा सकते हैं।

पीएम किसान योजना: परिवार के कितने सदस्य इस योजना का लाभ उठा सकते हैं

पीएम किसान योजना के संबंध में एक आवश्यक नियम यह निर्धारित करता है कि एक परिवार के भीतर केवल एक ही सदस्य इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए पात्र है। यदि किसी भी समय परिवार का कोई अन्य सदस्य इस योजना का लाभ लेने के लिए आवेदन करता है, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके अलावा, उन्हें परिणाम भुगतने के अलावा योजना से प्राप्त राशि भी वापस करनी होगी।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत, प्रत्येक किस्त विशेष रूप से उस लाभार्थी को वितरित की जाती है जिसने अपना आधार विवरण पंजीकृत किया है। इस प्रकार, सरकार के पास सभी आधार सूचनाओं का एक व्यापक डेटाबेस है, जो यह निर्धारित करने में सक्षम बनाता है कि एक परिवार में कितने व्यक्ति इस योजना का लाभ उठा रहे हैं।

पीएम किसान योजना: इस योजना से किसे लाभ नहीं मिलता है?

यह योजना अपना लाभ विशेष रूप से किसानों तक पहुंचाती है। उदाहरण के लिए, डॉक्टर, इंजीनियर या सीए जैसे पेशेवर क्षेत्रों में लगे व्यक्ति इस योजना का लाभ उठाने के लिए पात्र नहीं हैं। इसके अतिरिक्त, 10,000 रुपये से अधिक पेंशन पाने वाले वरिष्ठ नागरिक या सेवानिवृत्त सरकारी कर्मचारी भी इस कार्यक्रम के लाभों में भाग लेने के पात्र नहीं हैं।_

PM Kisan Yojana:
PM Kisan Yojana:

यदि कोई किसान या उनके परिवार का कोई सदस्य सरकार को टैक्स देता है, तो वह भी इस योजना का लाभ लेने के लिए अयोग्य है। इसका तात्पर्य यह है कि यदि पति या पत्नी में से किसी ने भी आयकर भुगतान किया है, तो वे इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं। अगर आप अभी भी इस योजना से अवैध रूप से फायदा उठा रहे हैं तो आपके पास अभी भी मौका है। आप चाहें तो स्वेच्छा से इस योजना को सरेंडर कर सकते हैं।

इस वजह से उठ रहा मामला

2022 की शुरुआत में पंजाब में कुल 541,512 किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत लाभार्थियों की सूची से हटा दिया गया था। इन किसानों को इस योजना के तहत भारत सरकार द्वारा दी जाने वाली 6,000 रुपये की वार्षिक सहायता से वंचित कर दिया गया। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि वे योजना में उल्लिखित निर्दिष्ट मानदंडों और शर्तों को पूरा करने में विफल रहे। इसके अलावा, किसानों में साक्षरता की कमी के कारण समस्या और बढ़ गई है, जिसके कारण वे सरकार द्वारा मांगी गई आवश्यक जानकारी कंप्यूटर पर अपलोड करने में असमर्थ हैं।

सरकार की एडवाइजरी

यदि आपका नाम पीएम किसान योजना से बाहर कर दिया गया है या यदि आपकी ई-केवाईसी, भूमि रिकॉर्ड सत्यापन, या आधार सीडिंग प्रक्रिया अधूरी है, तो इन कार्यों को तुरंत पूरा करने की सलाह दी जाती है। यदि उपरोक्त में से कोई भी कार्य अधूरा रह जाता है, तो आप सरकार द्वारा दी जाने वाली पीएम किसान योजना के तहत 6,000 रुपये की वार्षिक वित्तीय सहायता प्राप्त करने के पात्र नहीं होंगे। सरकार ने स्पष्ट रूप से कहा है कि वह निर्धारित नियमों का पालन करने में विफल रहने वाले किसानों को 6,000 रुपये की वार्षिक वित्तीय सहायता के प्रावधान को रोक देगी।

पीएम किसान योजना: कैसे करें सरेंडर

यदि आप इस योजना से बाहर निकलना चाहते हैं, तो आपको इन चरणों का पालन करना होगा:

सबसे पहले पीएम किसान की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।

पीएम किसान वेबसाइट पर, ‘पीएम किसान लाभों का स्वैच्छिक समर्पण’ विकल्प चुनें।

अपना पंजीकृत मोबाइल नंबर दर्ज करें।

“जनरेट ओटीपी” बटन पर क्लिक करें

। अपने मोबाइल पर प्राप्त ओटीपी दर्ज करें और “सबमिट करें” पर क्लिक करें।

इसके बाद, आपकी स्क्रीन पर प्राप्त किस्तों के विवरण सहित सभी प्रासंगिक जानकारी प्रस्तुत की जाएगी। आपसे पूछा जाएगा कि क्या आप इस योजना का लाभ लेना बंद करना चाहते हैं।

“हां” पर क्लिक करके आत्मसमर्पण करने के अपने इरादे की पुष्टि करें। इन चरणों का पालन करके आप सफलतापूर्वक इस योजना से सरेंडर हो जायेंगे।

सरकार उन व्यक्तियों को एक प्रमाणपत्र प्रदान करती है जो योजना को सरेंडर करना चुनते हैं।

किश्तें प्राप्त करने से पहले महत्वपूर्ण कदम

PM Kisan Yojana:
PM Kisan Yojana:

योजना से जुड़े किसान जो अपनी किस्त प्राप्त करने पर विचार कर रहे हैं, कृपया निम्नलिखित कार्यों को पूरा करना सुनिश्चित करें। ऐसा न करने पर आपकी धनराशि प्राप्त होने में देरी हो सकती है। यह महत्वपूर्ण है कि आप अपनी ई-केवाईसी, भूमि रिकॉर्ड सत्यापन, या आधार सीडिंग प्रक्रिया को बिना किसी देरी के पूरा करें। इन चरणों को पूरा करने के बाद ही आप धनराशि की 15वीं किस्त प्राप्त करने के पात्र होंगे। आपकी त्वरित कार्रवाई यह सुनिश्चित करेगी कि आपकी धनराशि लंबित न रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *