Israel Hamas WarIsrael Hamas War

इजराइल-हमास युद्ध: 600 से अधिक लोगों की मौत, 4000 घायल इस संघर्ष में

नई दिल्ली: इजराइल और हमास के बीच जारी युद्ध ने अब तक 600 से अधिक लोगों की मौत का कारण बना है, जबकि 4000 से अधिक लोगों ने घायल होने का सामना किया है। इस संघर्ष के दौरान, हमास ने कई इजराइली नागरिकों को बंधक बना लिया है, जिनमें से कुछ लोग जिंदा बचे हैं, जबकि कुछ की मौत हो गई है। इजराइली सेना के प्रवक्ता लेफ्टिनेंट कर्नल जोनाथन कोनरिकस ने यह स्थिति जारी रखने की घटना की पुष्टि की और कहा कि वह अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए सभी आवश्यक कदम उठा सकते हैं।

इजराइली सेना का बयान: दुश्मनों द्वारा बंधक बनाए गए लोगों की चिंता

Israel Hamas War
Israel Hamas War

इजराइली सेना ने संक्षेप में कहा है कि हमें यह दुखद संदेश मिला है कि हमारे दुश्मनों ने बच्चों, महिलाओं, बुजुर्गों और विकलांग लोगों को बंधक बना लिया है। हम इस समय पूरे आंकड़ों की चर्चा नहीं कर सकते, यह बड़ी संख्या में लोगों की पीड़ा का संकेत है। इस व्यक्तिगत दुखद घटना का संदेश हमें यह सिखाता है कि हमें शांति और सहमति की ओर सामर्थ्यशाली कदम बढ़ाना होगा। हमारी सेना तैयार है और हम इस चुनौती से निपटने के लिए पूरी तरह से संकल्पबद्ध हैं। हम अपनी जनता की सुरक्षा के लिए हमेशा तत्पर रहेंगे और उन्हें सबसे अच्छी संभावना और सहायता प्रदान करेंगे। हम दुनिया को यह संदेश भेजते

अबतक 700 लोगों की मौत: हमास-इजराइल जंग में बढ़ती हत्याएँ

इस युद्ध में हमास के हमलों से 400 से अधिक इजराइली नागरिकों की मौत हो चुकी है और 2,000 से अधिक लोग घायल हो गए हैं। साथ ही, इजराइल के जवाबी हमलों में 300 से अधिक हमास के आतंकी मारे गए हैं, जबकि 2,000 से अधिक घायल हैं। ताजगी के अनुसार, इजराइल ने हमास के 17 संदर्भों और 4 हेडक्वार्टर्स पर मिसाइल हमले किए हैं। इसके अलावा, लेबनान ने भी इजराइल पर बमबारी की है। इस हमले की जिम्मेदारी चरमपंथी संगठन हिजबुल्लाह ने लिया है।

अंतर्राष्ट्रीय प्रतिक्रिया

Israel Hamas War
Israel Hamas War

इस घातक संघर्ष पर प्रधानमंत्री मोदी ने जताई अपनी सामर्थ्यशाली समर्थनता। वहीं, फ्रांस, जर्मनी, और यूरोपीय संघ ने हमलों की निंदा करते हुए कड़े शब्दों में आलोचना की है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इजराइल को पूरी समर्थनता देने की घोषणा की है। वहीं, ईरान ने हमास और हिजबुल्लाह के समर्थन में आवाज उठाई है। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें दिखाया जा रहा है कि एक महिला को सड़क पर घसीटा जा रहा है। साथ ही, इजराइली नागरिकों के साथ दुर्व्यवहार और प्रताड़ना के कई वीडियो भी वायरल हो रहे हैं।

हैं कि हम आतंकवाद के खिलाफ एकजुट हैं और इस युद्ध को नकारने के लिए समर्थ हैं।**

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *